0
0
94

*सुविचार:-जिसे हिंदुस्तानी होने का गर्व होता है वही राष्ट्रीय पर्व को उल्लास पूर्वक मनाते हैं,अन्यथा देश के कलंक के रूप में भ्रमित होकर भटकते रहते हैं । शिक्षा:-कलंक मत बनो,राष्ट्र के ख़ुशी में शामिल हो जाओ । जय माँ,संकर्षण शरण (गुरु जी)*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.