Home Breaking News Asian Champions Trophy: लगातार दूसरी बार खिताब के लिए भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान

Asian Champions Trophy: लगातार दूसरी बार खिताब के लिए भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान

0
0
72

मौजूदा विजेता भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने इस बार भी हीरो एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी में फाइनल में प्रवेश कर लिया है. भारत ने सेमीफाइनल में एशियाई स्वर्ण पदक विजेता जापान को 3-2 से हराया. अब खिताब के लिए उसका सामना पाकिस्तान से होगा. भारत के लिए सेमीफाइनल में गुरजंत ने 19वें, चिंगलेनसाना ने 44वें और दिलप्रीत ने 55वें मिनट में गोल दागे. वहीं, जापान की ओर से हिरोताका वाकुरी ने 22वें और हिरोताका जेनदाना ने 56वें मिनट में गोल किए.

यहां शनिवार को खेले गए पहले सेमीफाइनल में पाकिस्तान ने मलेशिया को शूटआउट में 3-1 से मात देकर फाइनल में कदम रखा था और अब भारत के फाइनल में पहुंचने से दोनों टीमों के बीच खिताबी मुकाबला खेला जाएगा. भारत इससे पहले 2011 और 2016 के फाइनल में पाकिस्तान से भिड़ चुका है जहां दोनों बार उसने पाकिस्तान को पीटकर खिताब अपने नाम किया था

पहले क्वार्टर में नहीं हुआ कोई गोल
भारत ने मैच की शुरूआत में ही मिले पेनल्टी कॉर्नर जाया कर दिया. पहले क्वॉर्टर में दोनों टीमें एक-दूसरे पर दबाव मौका ढूंढ़ती रहीं लेकिन किसी को भी सफलता नहीं मिल सकी.

Asian champions trophy Ind vs Jap

19वें मिनट में मिली भारत को बढ़त
दूसरे क्वॉर्टर में 19वें मिनट में गुरजंत ने शानदार मैदानी गोल कर भारत को 1-0 बढ़त दिला दी. हालांकि भारतीय टीम अपनी इस बढ़त को ज्यादा देर कायम नहीं रख पाई और तीन मिनट बाद ही 22वें मिनट में जापान को पेनल्टी कॉर्न मिलाए जिस पर हिरोताका ने गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया और मैच के हाफ टाइम तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर रहीं. भारत ने पहले हाफ में तीन पेनल्टी कॉर्नर गवांए.

हाफ टाइम के बाद हुए दो गोल
हाफ टाइम के बाद दोनों टीमों ने एक बार फिर एक-दूसरे पर बढ़त बनाने के लिए संघर्ष शुरू किया. तीसरे क्वॉर्टर के खत्म होने से एक मिनट पहले ही भारत को मैच का चौथा पेनल्टी कॉर्नर हासिल हुआ. इस बार वरुण के ड्रेग फ्लिक को चिंगलेनसाना ने डिफ्लेक्ट कर गोल पोस्ट की ओर धकेल दिया और भारत को मैच में 2-1 की बढ़त मिल गई. चौथे और अंतिम क्वॉर्टर में जापान ने बराबरी करने के लगातार मौका तलाशे लेकिन भारतीय टीम ने ऐसा नहीं होने दिया. मैच के 55वें मिनट में दिलप्रीत ने एक शानदार मैदानी गोल दागकर 3-1 से आगे कर दिया.

नजदीकी जीत रही भारत की
हालांकि अगले ही मिनट में जापान को पेनल्टी कॉर्नर 56वें मिला. लेकिन इस बार हिरोताका जेनदाना ने दागकर स्कोर 2-3 कर दिया. आखिरी के चार मिनटों में भारतीय टीम ने और कोई गोल नहीं होने दिया और 3-2 से मैच जीतकर फाइनल में प्रवेश कर लिया. इससे पहले एक अन्य सेमीफाइनल में पाकिस्तान ने मलेशिया को शूटआउट में 3-1 से मात देकर फाइनल में कदम रखा. पाकिस्तान की टीम पहले हाफ तक 4-1 से आगे थीए लेकिन मलेशिया दूयरे हाफ में मैच पलट दिया और बराबरी हासिल कर ली.

शूट आउट में एक ही गोल हुआ मलेशिया से
दो बार की विजेता पाकिस्तान के लिए निर्धारित समय तक इरफान जूनियर ने छठे, बिलाल ने 12वें और 20वें तथा महमूद ने 15वें मिनट में गोल किए. वहीं, मलेशिया के लिए फैजल ने दूसरे और 56वें, टेंगकु ने 43वें और एमान ने 44वें मिनट में गोल दागे. शूटआउट में अरशद महमूद और ए बट ने पाकिस्तान के लिए गोल किए जबकि अहमद और इरफान जूनियर चूक गए. मलेशिया के लिए एमान ने ही गोल दागा जबकि अशहरी, फैजल और शाहरी मौका चूक गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.