Home Breaking News बिग बॉस 12: ‘ज्वालामुखी टास्क’ से मचा बवाल, आज इनके बीच होगी धक्का-मुक्की

बिग बॉस 12: ‘ज्वालामुखी टास्क’ से मचा बवाल, आज इनके बीच होगी धक्का-मुक्की

0
0
110

 ‘बिग बॉस 12’ के पिछले एपिसोड में ‘जोड़ी ब्रेकर और जोड़ मेकर टास्क’ में देखा गया कि किस तरह कंटेस्टेंट के बीच वाद-विवाद और लड़ाई-झगड़ा देखने को मिला. इस टास्क की वजह से अनूप जलोटा और जसलीन का रिश्ता तक टूट गया. वहीं, अब एक और टास्क ‘ज्वालामुखी’ ये घर के दूसरे सदस्यों के बीच बवाल मच गया है. अब तक बहसबाजी तक सिमटने वाली जंग ने बड़ा रूप रूप लेते हुए धक्कामुक्की और धमकी तक पहुंच गई है.

बिग बॉस ने घर के सदस्यों को इस हफ्ते का लग्जरी बजट का टास्क सौंपा है. सभी को बताया जाएगा कि ‘ज्वालामुखी’ कार्य या टास्क का असर अगली कैप्टंसी पर भी पड़ेगा. इसके लिए घर के गार्डन एरिया में एक कृत्रिम ज्वालामुखी बनाया गया है, जो कि समय-समय पर फटेगा. हर बार फटने पर ज्वालामुखी से रंग-बिरंगी गेंदें (बॉल) निकलेंगी. इसमें हिस्सा ले रहे सभी सदस्यों को ज्यादा से ज्यादा बॉल्स इकट्ठी करके अपने कंटेनर में भरनी होंगी. जिसका कंटेनर सबसे कम भरा होगा वह टास्क और कैप्टेंसी की रेस से बाहर हो जाएगा. कंटेनर को बॉल्स से भरते रहना और दूसरे कंटेस्टेंट से बचाना होगा ताकि कोई किसी की बॉल्स न ले जाए. समय समाप्त होने तक जो भी इसमें बचा रहेगा, वही इस टास्क का विजेता होगा और कैप्टेंसी का दावेदार होगा.

इस टास्क की देखरेख के लिए वाइल्ड कार्ड एंट्री लेकर आईं सुरभि राणा को संचालक बनाया जाता है. जहां बॉल्स को लूटने और अपने कंटेनर्स में भरने के दौरान घर में सबा-नेहा, दीपक-सृष्टि और रोमिल-श्रीसंत में धक्कामुक्की तक हो जाती है. शो के प्रोमो वीडियो में दिखाया गया है कि सबा के हाथ में नेहा के नाखून से खरोंच लग जाती है और वह संचालक से बात न करते हुए बिग बॉस से सीधे इस बारे में शिकायत करती है.

उधर, बॉल्स से भरे अपने कंटेनर्स की सुरक्षा कर रहे दीपक ठाकुर का सृष्टि मजाक उड़ाती हैं. इसी बीच, कंटेनर्स का ढंकने के कपड़ों के लिए दीपक और सृष्टि भिड़ जाते हैं. इनके अलावा किसी बात को लेकर रोमिल चौधरी से श्रीसंत बहस इतनी बढ़ जाती है कि दोनों पर्सनल हो जाते हैं और बात मारपीट तक पहुंच जाती है. अब आज के शो में देखना होगा कि यह लड़ाई कहां तक पहुंचती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.