Home Breaking News इंदौर से मंत्री नहीं; कैलाश का कटाक्ष, शिवराज ही यहां के महानायक

इंदौर से मंत्री नहीं; कैलाश का कटाक्ष, शिवराज ही यहां के महानायक

0
0
167

भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी टीम को बढ़ाते हुए ग्वालियर जिले से नारायण सिंह कुशवाह को कैबिनेट मंत्री और नरसिंहपुर से जालम सिंह और खरगोन से बालकृष्ण पाटीदार को राज्यमंत्री बनाया है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने तीनों मंत्रियों को शपथ दिलाई। शिवराज ने अपने तीसरे कार्यकाल के दूसरे विस्तार में पूरी तरह से जातिगत समीकरणों को पक्ष में करने की कोशिश की है। नारायण सिंह के जरिये कुशवाह यानी काछी वर्ग और जालम व बालकृष्ण के जरिए लोधी और पाटीदारों को साधा है। इंदौर से किसी भी विधायक को मंत्रिमंडल में जगह न मिलने पर विजयवर्गीय बोले- इंदौर से किसी की जरूरत नहीं, शिवराज ही नायक और महानायक। भाजपा को उम्मीद है कि इससे कोलारस और मुंगावली के उपचुनावों में मदद मिलेगी।

25 जिलों से: एक भी मंत्री नहीं, रायसेन से दो कैबिनेट, एक राज्यमंत्री
मुख्यमंत्री शिवराज िसंह चौहान और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने मीडिया से कहा जल्द ही एक छोटा मंत्रिमंडल विस्तार और होगा। इससे साफ है कि दूसरे मंत्रिमंडल विस्तार से बढ़ने वाले असंतोष और डैमेज को कंट्रोल करने का प्रयास किया गया है। अब मंत्रियों की संख्या 31 हो गई है। इसमें 20 कैबिनेट मंत्री हैं। राज्य में निर्धारित मापदंडों के अनुरूप अधिकतम तीन और मंत्री शामिल किए जा सकते हैं।

पहली बार : ग्वालियर से 3 मंत्री
शिवराज के अब तक के कार्यकाल में संभ‌वत: ग्वालियर पहला जिला होगा, जहां से तीन कैबिनेट मंत्री (माया सिंह, जयभान सिंह पवैया, नारायण सिंह कुशवाह) होंगे। वह भी तब जब ग्वालियर की 6 में से 4

सीटों पर भाजपा के विधायक हैं। इनमें से 3 कैबिनेट मंत्री हैं।

इंदौर फिर खाली हाथ

इंदौर जैसे जिले से एक भी विधायक को जगह नहीं मिली। वर्तमान में रायसेन से ही तीन मंत्री हैं, जिसमें रामपाल सिंह और डॉ. गौरीशंकर शेजवार कैबिनेट, सुरेंद्र पटवा राज्यमंत्री हैं।

महासचिव बोले- अगला चुनाव शिवराज के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा

शिवराज की टीम में इंदौर को प्रतिनिधित्व नहीं मिलने पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के रहते प्रदेश मंत्रिमंडल में इंदौर से किसी और के प्रतिनिधित्व की आवश्यकता नहीं है। वे इंदौर के नायक भी हैं और महानायक भी हैं। अगला विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। विजयवर्गीय शनिवार को शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पहुंचे थे। उनके इस बयान को सियासी जगत में कटाक्ष से जोड़कर देखा जा रहा है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह ने पूछने पर कहा कि इंदौर से लोकसभा अध्यक्ष हैं। इससे बड़ा प्रतिनिधित्व क्या होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.