Home Breaking News CBI घूसकांड: अब तक 13 अफसर हटाए गए, अस्थाना की जांच कर रहे बस्सी का अंडमान ट्रांसफर

CBI घूसकांड: अब तक 13 अफसर हटाए गए, अस्थाना की जांच कर रहे बस्सी का अंडमान ट्रांसफर

0
0
54

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई के अफसरों में तकरार पर जहां सरकार एक्शन में नजर आ रही है, वहीं एजेंसी की कमान संभालते ही नागेश्वर राव ने भी कार्रवाई करनी शुरू कर दी है. एजेंसी ने अपने 13 अफसरों का तत्काल प्रभाव से या तोट्रांसफर कर दिया है या उनकी जिम्मेदारियों में बदलाव कर दिया है. इनमें वो अधिकारी भी शामिल हैं, जो विशेष निदेशक राकेश अस्थाना पर लगे आरोपों की जांच कर रहे थे.

सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच आरोप-प्रत्यारोप के विवाद पर एक्शन लेते हुए सरकार ने दोनों अधिकारियों को छुट्टी पर भेजने का फैसला किया है. जिसके बाद ज्वाइंट डायरेक्टर नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त किया गया है. नागेश्वर के कमान संभालते  ही कई अफसरों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. इनमें अस्थाना केस की जांच टीम को लीड कर रहे डिप्टी एसपी अजय बस्सी भी शामिल हैं, जिन्हें पोर्ट ब्लेयर भेजा गया है.

इनके अलावा ज्वाइंट डायरेक्टर अरुण शर्मा को जेडी पॉलिसी और जेडी एंटी करप्शन हेडक्वार्टर से हटा दिया गया है. साथ ही AC III के डीआईजी मनीष सिन्हा को भी उनके पद से हटा दिया गया है. सीबीआई ने राकेश अस्थाना के मामले को फास्ट ट्रैक इन्वेस्टिगेशन में डाल दिया है.

इन अधिकारियों का हुआ ट्रांसफर

अजय बस्सी- बस्सी दिल्ली हेडक्वार्टर में डिप्टी एसपी के पद पर तैनात थे और राकेश अस्थाना घूसकांड की जांच कर रही टीम का नेतृत्व कर रहे थे. बस्सी का ट्रांसफर पोर्ट ब्लेयर किया गया है.

एसएस ग्रूम– एडिशनल एसपी एसएस ग्रूम का ट्रांसफर जबलपुर किया गया है. इन पर डिप्टी एसपी देवेंद्र कुमार की गिरफ्तारी और उनसे जबरदस्ती कोरे कागज पर दस्तखत कराने का आरोप है.

ए के शर्मा– ए के शर्मा सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के करीबी माने जाते हैं और इनका भी ट्रांसफर कर दिया गया है.

ए साई मनोहर– मनोहर को राकेश अस्थाना का करीबी कहा जाता है और इन्हें चंडीगढ़ में पोस्ट किया गया है.

वी मुरुगेसन को चंडीगढ़ में नियुक्त किया गया है.

अमित कुमार– डीआईजी की जिम्मेदारी संभाल रहे अमित कुमार को JD, AC1 में नियुक्त किया गया है.

मनीष सिन्हा– ये डीआईजी का पद संभाल रहे थे और इनका ट्रांसफर नागपुर किया गया है.

तरुण गौबा– ये भी डीआईजी हैं और इन्हें चंडीगढ़ से दिल्ली बुलाया गया है.

जसबीर सिंह– ये डीआईजी हैं और इन्हें बैंक धोखाधड़ी विंग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

इनके अलावा के आर चौरसिया, रण गोपाल और सतीश डागर की जिम्मेदारियों में भी बदलाव किया गया है.

जांच टीम में तीन नए नाम

राकेश अस्थाना केस की जांच कर रही टीम में तीन नए अधिकारियों को शामिल किया गया है. एसपी सतीश डागर, एक्टिंग ज्वाइंड डायरेक्टर वी. मुरुगुशन और डीआईडी तरुण गौबा अस्थाना और बाकी अफसरों के खिलाफ दर्ज केस की जांच करेंगे.

क्या है केस

स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है. इसमें अस्थाना पर मीट कारोबारी मोइन कुरैशी से जुड़े केस में जांच के घेरे में चल रहे कारोबारी सतीश सना से रिश्वत लेने का आरोप है. राकेश अस्थाना इस केस की जांच के लिए बनाई गई एसआईटी के प्रमुख हैं. राकेश अस्थाना के साथ कई अन्य के खिलाफ कथित रूप से मांस निर्यातक मोइन कुरैशी से घूस लेने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है.

वहीं, ये एफआईआर होने के बाद राकेश अस्थाना ने आलोक वर्मा पर पलटवार किया और साजिश का आरोप लगाया. अस्थाना ने सरकार को पत्र लिखकर कहा कि सीबीआई और ईडी के कुछ अधिकारी उनके खिलाफ साजिश कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.