Home Breaking News यदि नेहरू की मेहरबानी से चाय वाला PM बन गया…तो कांग्रेस किसी दूसरे को अध्यक्ष बना दे: पीएम मोदी

यदि नेहरू की मेहरबानी से चाय वाला PM बन गया…तो कांग्रेस किसी दूसरे को अध्यक्ष बना दे: पीएम मोदी

0
0
37

छत्तीसगढ़ में आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिन होने के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रदेश की जनता को संबोधित करने के लिए महासमु्ंद पहुंचे. महासमुंद के बेमचाभाठा मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस सांसद शशि थरूर के अपनी पुस्तक “नेहरू: द इन्वेंशन ऑफ इंडिया’ के पुनर्विमोचन के मौके पर उन्हें ‘चायवाला’ और नेहरू जी के कारण ‘चायवाले के प्रधानमंत्री’ बनने वाले बयान पर जमकर निशाना साधा और कहा कि ‘ये लोग बोलते है कि नेहरु जी की मेहरबानी है कि चाय वाला प्रधानमंत्री बन गया. क्रेडिट लेने के लिये ऐसी-ऐसी चीजें खोजकर ले आते हैं. अगर उन्होंने इतनी उदार लोकतांत्रिक व्यवस्था दी है तो मैं पूछता हूं कि 5 साल के लिये किसी परिवार से बाहर के शख्स को कांग्रेस अध्यक्ष क्यों नहीं बना देते. उनके राज दरबारी ने कहा कि ये बने थे. ये बने थे सीताराम केसरी जो कि दलित थे कैसे उन्हें बाथरुम में बंद कर दिया था, रोड पर फेंक दिया गया था. झूठ बोलना, सही सवालो के जवाब नहीं देना. उनके राज दरबारी उनसे सवाल पूछने की हिम्मत नहीं करते क्योंकि उन्होंने भी तो नमक खाया है.”

दिल्ली में रिमोट कंट्रोल वाली सरकार थी
पीएम मोदी ने आगे कहा कि ‘सीएम डॉ रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ में जो भी काम किए वह काफी सराहनीय हैं, क्योंकि इससे पहले दिल्ली में बैठी सरकार उनकी बातें नहीं सुनती थी. मैं भी गुजरात में सीएम रहते हुए कई बार इन समस्याओं को झेल चुका हूं, कई बार केंद्र से लड़ना भी पड़ा. जैसे मैं केंद्र से लड़ा वह भी लड़े. सीएम डॉ रमन सिंह के 10 साल सिर्फ नकारात्मक शक्तियों से लड़ने में ही चले गए. क्योंकि केंद्र ने छत्तीसगढ़ को भारत का हिस्सा मानने से ही इंकार कर दिया था.’

मैं यहां के लोगों से परिचित हूं- पीएम मोदी
उन्होंने आगे कहा कि ‘ये महासमुंद की धरती पर मुझे संगठन के कार्यकर्ता के नाते, कार्य करने का अवसर मिला है. मैं यहां के लोगों की आवश्यकताओं, समस्याओं और उनके समाधान से भली-भांती अवगत हूं. यहां से मैंने बहुत कुछ सीखा है. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन में बड़ी रैली कर रहा हूं, हमने जितना सोचा था उससे कहीं ज्यादा लोग आज इस रैली में मौजूद हैं. कई लोग धूप में भी खड़े हैं. आप सभी को हो रही असुविधा के लिए मैं क्षमा मांगता हूं, लेकिन यह विश्वास दिलाता हूं कि आपकी तपस्या मैं बेकार नहीं जाने दूंगा. हम क्षेत्र में विकास के साथ आपकी तपस्या को ब्याज सहित देंगे.’

18 साल का हो चुका छत्तीसगढ़
महासमुंद की सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने आगे कहा कि ‘प्रदेश की जनता को केंद्र सरकार का पूरा समर्थन है. इस बार भी सीएम रमन सिंह का साथ दीजिए. इस चुनाव को सामान्य न समझें, क्योंकि इससे क्षेत्र का विकास जुड़ा है. केंद्र में भाजपा सरकार बनने के बाद ही छत्तीसगढ़ पर ध्यान दिया गया है क्योंकि केंद्र में ऐसा प्रधानमंत्री है जो छत्तीसगढ़ की जनता और उनकी समस्याओं से परिचित है. छत्तीसगढ़ 18 साल का हो चुका है. आप सभी जानते हैं जब कोई बच्चा 18 साल का होता है तो उसकी अपेक्षाएं और सपने जाग जाते हैं. अब यही 18 साल का हो चुका राज्य तेजी से आगे बढ़ेगा और विकास के नए आयाम रचेगा.

जैसे 18 साल के बाद घर में बच्चे की परवरिश पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है वैसे ही आपकी जिम्मेदारी है कि इसे अच्छी परवरिश मिले इसलिए इसबार हमें कोई गलती करने का हक नहीं है. सीएम डॉ रमन सिंह जी के हाथ ऐसे मजबूत करें, उनको ऐसी ताकत दें कि आने वाले 25 साल की नीव अगले 5 साल में ही मजबूत कर दें. इस चुनाव को कौन विधायक बनें कौन न बनें इस पर न तौलें. पहली बार वोट देने वाले नौजवानों से पूछना चाहता हूं, आपके दादा-दादी को, मां-बाप को जिन कठिनाइयों के बीच गुजारा करना पड़ा क्या आप चाहते हैं आपकी जिंदगी भी ऐसी ही गुजरे. जरा सोचिए वो कौन लोग राज करते थे जब आपके दादा-दादी को अभावों में जिंदगी में गुजारनी पड़ी, वो कौन लोग थे जिसके कारण आपके परिवार के सपने वहीं के वहीं रह गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.