Home Breaking News दामाखेड़ा से छत्तीसगढ़ को मिली देश-विदेश में विशिष्ट पहचान: रमन

दामाखेड़ा से छत्तीसगढ़ को मिली देश-विदेश में विशिष्ट पहचान: रमन

0
0
102

रायपुर,छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार-भाटापारा में कबीर धर्म नगरी दामाखेड़ा से प्रदेश को देश-विदेश में विशिष्ट पहचान मिली है। ये बतों मंगलवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कबीर संत-समागत में कही।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि, कबीर पंथियों के आस्था के केन्द्र दामाखेड़ा से छत्तीसगढ़ को देश-विदेश में विशिष्ट पहचान मिली है। दामाखेड़ा में हर साल माघ शुक्ल दशमीं से पूर्णिमा तक मेला और कबीर पंथियों का संत समागम होता है, इस साल इसका 114वां आयोजन है। यह स्वयं में एक अनूठा और गौरवशाली कीर्तिमान है। मेला में देश-विदेश से कबीर पंथ के लोग और संत महात्मा शामिल होते हैं। छत्तीसगढ़ संत महात्माओं की धरा है। राज्य के विकास में इनका सदैव से ही आशीर्वाद रहा है।
उन्होंने कहा कि, संत कबीर का संदेश आज भी प्रासंगिक और अनुकरणीय है। प्रदेश में हो रहे विकास कार्य समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच रहा है। यहां खद्यान्न और पोषण सुरक्षा सहित स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसरंचनाओं का समुचित विकास हुआ है। आने वाले समय में छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्यों में गिना जाएगा। उन्होंने कहा कि, सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के सभी घरों में बिजली पहुंचाई जा रही है। इसी तरह मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अब प्रत्येक स्मार्ट कार्ड में तीस हजार से बढ़ाकर पचास हजार रुपए तक इलाज की सुविधा दी जा रही है।
विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि, कबीर धर्म का संचालन दामाखेड़ा से हो रहा है, हम सब मिलकर कबीर के संदेश को जन-जन तक पहुंचा रहे हैं और इससे प्रदेश में सामाजिक समरसता का वातावरण बना है। छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिवरतन शर्मा ने दामाखेड़ा में आवश्यक निर्माण एवं विकास कार्यों को पूरा करने के संबंध में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को अवगत कराया।
उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिए सरकार के विकास कार्यों की सराहना की और उपलब्धियों को गिनाया। कबीर पंथ के 15वें पंथ प्रकाश मुनि नाम साहब ने कहा कि, कबीर पंथियों के आस्था के केन्द्र दामाखेड़ा में 1904 से यह समागम मेला का आयोजन हर वर्ष किया जाता है, जिसमें कबीरपंथ के अनुयायी बड़ी संख्या में शामिल होकर विचारों का अदान-प्रदान करते हैं।
इस अवसर पर संसदीय सचिव लाभचंद बाफना, बेमेतरा विधायक अवधेश चंदेल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरम लाल कौशिक, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मारकण्डेय, कलेक्टर राजेश सिंह राणा, पुलिस अधीक्षक आरएन दास, दामाखेड़ा सरपंच कमलेश साहू और कबीर पंथ के अनुयायी बड़ी संख्या में मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.