Home Breaking News बीजेपी- शिवसेना में फिर बढ़ी रार : कैबिनट बैठक में धर्मा पाटील को लेकर विवाद

बीजेपी- शिवसेना में फिर बढ़ी रार : कैबिनट बैठक में धर्मा पाटील को लेकर विवाद

0
0
71

मुंबई. शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव पारित होने के बाद शिवसेना अपनी ही सरकार के खिलाफ अधिक आक्रामक हो गई है। धुलिया के बुजुर्ग किसान धर्मा पाटील की मौत को लेकर मंगलवार को शिवसेना-बीजेपी के मंत्रियों के बीच मंत्रिमंडल की बैठक में विवाद हो गया। उधर शिवसेना ने अपने मुखपत्र में फडणवीस सरकार को भाषण माफिया बताते हुए उस पर जमकर हमला बोला। जवाब में राज्य के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा है कि शिवसेना भी इसी सरकार का हिस्सा है।

धर्मा पाटील आत्महत्या को लेकर किया सवाल

– मंत्रिमंडल की बैठक में शिवसेना नेता व राज्य के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने पूछा- ‘हमारी सरकार बुजुर्ग किसान को न्याय क्यों नहीं दे सकी? कांग्रेस- राकांपा सरकार से परेशान होकर लोगों ने हमें सत्ता सौंपी थी। मौजूदा सरकार के साढ़े तीन साल बीत गए पर धर्मा पाटील की समस्या का समाधान नहीं हो सका।’

– इस पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव सुमित मलिक इस मामले की जांच कर एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे। बता दें कि अधिगृहीत जमीन का उचित मुआवजा न मिलने से परेशान होकर धर्मा पाटील ने मंत्रालय में जहर पीकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था। गत रविवार को जेजे अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

दोषी अधिकारियों पर हो सकती है कार्रवाई

मुख्यमंत्री ने संकेत दिए हैं कि धर्मा पाटील के मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ कारवाई की जाएगी। ्र सरकारी अधिकारियों की लापरवाही के कारण पाटील को अपनी जमीन का उचित मुआवजा न ु हीं मिल सका था। जबकि पाटील के पड़ोसी किसानों को बाजारभाव के अनुसार मुआवजा ु मिला है। यह बात सामने आई है कि पाटील को अन्य लोगों की तरह मुआवजा ु देने में संबंधित अधिकारियों ने आनाकानी की।

मलिक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे रावल

धुलिया के पालकमंत्री व राज्य के पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे। गौरतलब है कि किसान धर्मा पाटील की मौत को लेकर मलिक ने आरोप लगाया था कि रावल धुलिया में लोगों से सस्ती जमीन खरीद कर मुआवजे के नाम पर मोटी कमाई कर रहे हैं। मलिक ने रावल को भूमाफिया भी कहा। रावल ने इन आरोपों को बेबुनिाद बताते हुए कहा है कि उन्होंने मानहानि की है। वहीं मलिक ने कहा कि यदि रावल मुकदमा करते हैं तो मैं अपने आरोपों को लेकर अदालत में सबूत पेश कर दूंगा।

शिवसेना ने “सामना’ में लिखा -किसान की चिता से जल जाएगी कुर्सी

बुजुर्ग किसान धर्मा पाटील की मौत पर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में सरकार पर जमकर निशाना साधा है। संपादकीय में राज्य सरकार को कोसते हुए कहा गया है कि मुख्यमंत्री राज्य चलाओ, बीजेपी मत चलाओ। धर्मा पाटील की धधकती चिता तुम्हारी कुर्सी को जला डालेगी।

मुनगंटीवार का जवाब, शिवसेना के मंत्रियों की कुर्सियां फायर प्रूफ हैं क्या?

प्रदेश के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने शिवसेना को ‘सामना’ में सरकार पर निशाना साधे जाने पर जवाब दिया है। कहा कि यदि बीजेपी के मंत्रियों की कुर्सी जलेगी तो क्या शिवसेना के मंत्रियों की कुर्सियां फायर प्रूफ हैं? मंत्रालय में मुनगंटीवार ने कहा कि मंत्रिमंडल में बीजेपी के मंत्रियों के साथ-साथ शिवसेना के भी 12 मंत्री हैं। शिवसेना को किसान धर्मा पाटील की मौत पर राजनीति करने से बचना चाहिए। उसके मंत्रियों को चाहिए कि वे ठोस सुझाव दें। सरकार निश्चित रूप से अच्छेसुझावों को स्वीकार करेगी।

‘शिवसेना अगला चुनाव बीजेपी के साथ मिलकर ही लड़ेगी’

कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने औरंगाबाद में कहा कि यदि शिवसेना को कांग्रेस के साथ आना है तो वह पार्टी हाईकमान से संपर्क करे। इस पर वित्तमंत्री मुनगंटीवार ने कहा कि जिस तरह से दूध और दही का मिलन नहीं हो सकता, उसी तरह कांग्रेस और शिवसेना का गठजोड़ कभी नहीं हो सकता। दोनों दलों की विचारधारा में काफी अंतर है। मुनगंटीवार ने आगे कहा, “मुझे पूरा विश्वास है कि शिवसेना आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव बीजेपी के साथ मिलकर ही लड़ेगी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.