Home Breaking News दिल्ली में खिली धूप लेकिन वायु प्रदूषण बरकरार, आज हवा की गुणवत्‍ता ‘बेहद खराब’

दिल्ली में खिली धूप लेकिन वायु प्रदूषण बरकरार, आज हवा की गुणवत्‍ता ‘बेहद खराब’

0
0
63

राजधानी दिल्‍ली की हवा का स्‍तर सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले दिनों हुई बारिश और अब निकल रही तेज धूप का असर भी इस पर नहीं हो रहा है. रविवार को भी दिल्‍ली की हवा की गुणवत्‍ता ‘बेहद खराब’ श्रेणी में रही. केंद्र सरकार द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) के अनुसार रविवार को दिल्‍ली का ओवरऑल एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स 326 रहा.

दिल्‍ली के धीरपुर में सुबह 9:30 बजे एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स (एक्‍यूआई) 365 रहा. जबकि मथुरा रोड का एक्‍यूआई 361 पर रहा. दिल्‍ली के पीतमपुरा का 345, इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे कि टर्मिनल 3 का एक्‍यूआई 277 रहा और दिल्‍ली यूनिवर्सिटी का एक्‍यूआई 242 रहा.

वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्‍ली का मौसम खुला रहेगा. धूप खिलेगी और अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा. वहीं न्‍यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्यियस तक रहने का अनुमान जताया गया है. उनका कहना है कि रविवार को भी दिल्‍ली में धुंध छाई रहेगी.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, कुल एक्यूआई 299 दर्ज किया गया जो ‘खराब’ श्रेणी में आता है. दिल्ली के 14 इलाकों में हवा की गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ और अन्य 14 में ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई. सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, रविवार को पीएम 2.5 (हवा में 2.5 माइक्रोमीटर से कम मोटाई के कणों) का स्तर 153 दर्ज किया गया जबकि पीएम10 का स्तर 289 दर्ज किया गया.

वायु गुणवत्ता सूचकांक में शून्य से 50 अंक तक हवा की गुणवत्ता को ‘‘अच्छा’’, 51 से 100 तक ‘‘संतोषजनक’’, 101 से 200 तक ‘‘मध्यम व सामान्य’’, 201 से 300 के स्तर को ‘‘खराब’’, 301 से 400 के स्तर को ‘‘अत्यंत खराब’’ और 401 से 500 के स्तर को ‘‘गंभीर’’ श्रेणी में रखा जाता है. सफर ने एक रिपोर्ट में कहा कि दिल्ली की वायु गुणवत्ता खराब और बेहद खराब श्रेणी के बीच झूल रही है और अगले दो दिनों में इसके बेहद खराब श्रेणी में रहने की आशंका है.

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘प्रदूषक तत्वों के तितरबितर होने के लिए हवा की गति काफी अच्छी है. पराली जलाने की घटनाओं में कमी आई लेकिन इसका ना के बराबर असर पड़ा है.’’ दिल्ली में बारिश के बाद प्रदूषक तत्वों के कम होने के बाद बुधवार और बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता में सुधार देखा गया था लेकिन बारिश ने प्रदूषकों को जकड़े रहने की हवा की क्षमता भी बढ़ा दी.

नहीं दुरुस्त हो रही दिल्'€à¤²à¥€ की हवा, आज भी 'बेहद खराब' हैं हालात

घर पर रहने की सलाह
मौसम विज्ञानियों और स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने दिल्‍ली के लोगों को इस वायु प्रदूषण से बचने की सलाह दी है. उनका कहना है कि ऐसे प्रदूषण में दिल्‍ली में रहे लोगों का घरों पर ही रहना सुरक्षित होगा. उन्‍होंने सलाह दी है कि जब बहुत ही जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें.

ये हैं प्रमुख कारण
विशेषज्ञों का मानना है दिल्‍ली की हवा वाहनों के धुएं और औद्योगिक कार्य के कारण भी जहरीली हो रही है. साथ ही कोयले, कंडे और लकड़ी का ईंधन के रूप में हो रहा इस्‍तेमाल भी इसका प्रमुख कारण है. उनका मानना है कि एक बड़ी आबादी इस ईंधन पर निर्भर है, इसलिए प्रदूषण खत्‍म करने के लिए उनकी ओर ध्‍यान देना अधिक जरूरी है.

नहीं मिली राहत
बता दें कि दिल्ली में बारिश के बाद प्रदूषण से मिली कुछ राहत के बाद शहर की वायु गणवत्ता फिर से बिगड़कर ‘खराब’ और ‘बेहद खराब’ श्रेणी के बीच पहुंच गई है. पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने और बारिश से पैदा नमी के कारण हवा में प्रदूषक तत्वों को धारण करने की क्षमता बढ़ने के कारण भी उसकी गुणवत्ता खराब हुई है.

शनिवार को भी था बेहद खराब
केंद्र सरकार द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने कहा कि वायु प्रदूषण फिर बढ़ रहा है. बारिश का प्रभव खत्म होने के बाद हवा की गुणवत्ता फिर से खराब हो रही है.  सफर के मुताबिक, शनिवार को दिल्‍ली का ओवरऑल एक्‍यूआई 309 दर्ज किया गया था जो ‘बेहद खराब’ श्रेणी में आता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.