Home Breaking News फुटबॉल: जॉर्डन के खिलाफ सुनील छेत्री के बिना खेलेगा भारत, युवा थटाल को मौका नहीं

फुटबॉल: जॉर्डन के खिलाफ सुनील छेत्री के बिना खेलेगा भारत, युवा थटाल को मौका नहीं

0
0
59

भारतीय फुटबाल टीम अपने स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री के बिना शनिवार को यहां किंग अबदुल्लाह स्टेडियम में जॉर्डन के खिलाफ दोस्ताना मैच खेलेगी. भारत अगले वर्ष जनवरी में होने वाले एएफसी एशियन कप की तैयारियों के रूप में यह फुटबॉल मुकाबला खेल रहा है . पिछले दोस्ताना मुकाबले में भारत ने चीन के खिलाफ रोमांचक गोल रहित ड्रॉ खेला था. चीन के विरुद्ध भारतीय टीम के लिए छेत्री ने अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के दौरान चोटिल होने के कारण वह जॉर्डन के खिलाफ नहीं खेलेंगे.

भारत पहली बार जॉर्डन के खिलाफ कोई फुटबाल मैच खेल रहा है. भारत के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने भी माना कि छेत्री के न होने से टीम पर प्रभाव पड़ेगा लेकिन यह युवा खिलाड़ियों को खुद को साबित करने का एक मौका भी देगा.

सुनील की गैरमौजूदगी एक झटका माना कोच ने
स्टीफन कांस्टेनटाइन ने कहा, “जॉर्डन के खिलाफ होने वाले मुकाबले के लिए सुनील का न होना हमारे लिए एक बड़ा झटका है. वह एक महान खिलाड़ी हैं और उन्होंने हमारे लिए शानदार प्रदर्शन किया है. वह उन खिलाड़ियों में से एक हैं जिनकी जगह कोई नहीं ले सकता, लेकिन किसी को जॉर्डन के खिलाफ उनका स्थान लेना होगा है.”
उन्होंने कहा, “इससे युवा खिलाड़ियों को अच्छा मौका मिलेगा कि वे खुद को साबित कर पाएं. हालांकि, छेत्री के स्तर का खिलाड़ी ढूंढ़ना मुश्किल है लेकिन हमें यह देखना होगा कि युवा खिलाड़ी इस मौके का लाभ उठा पाते हैं या नहीं.”

इंटरकांटिनेंटल कप : आज कीनिया से भिड़ेगा भारत, सुनील छेत्री पर होंगी सबकी नजरें

बाकी स्ट्राइकर फॉर्म में नहीं हैं
छेत्री के अलावा भारतीय टीम का कोई भी अन्य स्ट्राइकर इस सीजन फॉर्म में नजर नहीं आया है. जेजे लालपेखलुआ, सुमित पासी और मनवीर सिंह का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. अंडर-17 फीफा विश्व कप में भारत का अहम हिस्सा रहे 18 वर्षीय कोमल थटाल ने प्रशिक्षण शिविर में तो हिस्सा लिया लेकिन वह अंतिम 22 सदस्यीय टीम में जगह नहीं बना पाए.

कोमल तैयार नहीं अभी सीनियर टीम के लिए
कांस्टेनटाइन ने कहा, “मैं नहीं समझता कि कोमल अभी सीनियर टीम में खेलने के लिए तैयार हैं. हमें टीम के लिए स्ट्राइकर की खोज करने में बहुत मुश्किल होती है क्योंकि इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में भी अधिकतर टीमें विदेशी स्ट्राइकर के साथ खेलती है. अगर मैं आयोजक होता तो किसी भी टीम को विदेशी स्ट्राइकर नहीं रखने देता.”

कुछ खामियां भी हैं टीम में अभी
कोच ने कहा, “भारतीय खिलाड़ी इसलिए भी विंग या मिडफील्ड में खेलने की कोशिश करते हैं ताकि वह टीम में बने रहें. लेकिन हम अपनी खोज जारी रखेंगे और बेहतरीन खिलाड़ियों को ही टीम में स्ट्राइकर के रूप में मौका देंगे.” चीन के खिलाफ छेत्री के मौजूदगी में भारत की फारवर्ड लाइन का प्रदर्शन संतोषजनक रहा था लेकिन डिफेंस में बहुत सारी खामियां नजर आई थीं. गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने पिछले मैच में दमदार प्रदर्शन किया था लेकिन वह हर मैच में पूरे डिफेंस को नहीं संभाल सकते.

संदेश और बोस पर होगी यह जिम्मेदारी
कप्तान संदेश झिंगन के साथ सुभाशीष बोस पर भारतीय बैक लाइन को मजबूती प्रदान करने की जिम्मेदारी होगी. आईएसएल में इस सीजन दिल्ली डायनामोज के लिए औसत प्रदर्शन करने वाले डिफेंडर प्रतीम कोटाल पर भी टीम में अपनी जगह पक्की करने का अधिक दबाव होगा. दूसरी ओर, फीफा रैकिंग में फिलहाल 112वें स्थान पर काबिज जॉर्डन को अपने पिछले दोस्ताना मुकाबले में उसे फीफा विश्व कप में फाइनल तक पहुंचे वाली क्रोएशिया के खिलाफ 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था.

जोर्डन की टीम भारत के मुकाबले में मजबूत मानी जा रही है लेकिन खिलाड़ियों को चोटिल होना मेजबान टीम के लिए मुश्किल का सबब बन सकता है.

टीम :
गोलकीपर : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह.
डिफेंडर : प्रीतम कोटाल, निशु कुमार, संदेश झिंगन, अनस एडाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सुभाशीष बोस, नारायण दास, जैरी लालरिंजुआला.
मिडफील्डर : उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणॉय हलदर, अनिरुद्ध थापा, विनित राय, जर्मनप्रीत सिंह, हलीचरण नारजरी, असीक कुरुनीयन.
फारवर्ड : जेजे लालपेखलुआ, सुमित पासी, बलवंत सिंह, मनवीर सिंह.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.