Home Breaking News जोगी की जाति पर हाईकोर्ट के फैसले के बाद सिंहदेव ने गिनाएं जुगलबंदी के 6 तथ्य,पढिए…

जोगी की जाति पर हाईकोर्ट के फैसले के बाद सिंहदेव ने गिनाएं जुगलबंदी के 6 तथ्य,पढिए…

0
0
95

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति मसले पर बिलासपुर हाईकोर्ट के फैसले ने राज्य की सियासत में गरमाहट ला दी है। चुनावी साल में इस फैसले के नफा-नुकसान और राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। कांग्रेस ने इसे जोगी-रमन की जुगलबंदी करार दिया है। इसे आगे बढ़ाते हुए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने 6 ट्वीट किए हैं, जिसमें उन्होंने बकायदा केस स्टडी के साथ यह साबित करने की कोशिश की है, कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी में सांठगांठ है। सिंहदेव ने सारे ट्वीट भाजपा जोगी साथ-साथ हैश टैग के साथ ट्वीट किए हैं। आइए सिलसिलेवार नजर डालते हैं उनके ट्वीट्स पर-

ट्वीट एक-

सिंहदेव ने पहले ट्वीट लिखा कि जोगी ने अपने आदिवासी होने का सर्टिफिकेट एक तहसील से दिया है, लेकिन यह तहसील सरकारी रिकॉर्ड में है ही नहीं।

 

ट्वीट दो-

इंदौर बेंच ने अपना फैसला इसलिए सुनाया, क्योंकि याचिकाधारक ने केस को वापस ले लिया।

 

ट्वीट तीन-

सुप्रीम कोर्ट ने भी उनकी याचिका पर 2011 में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा एक आयोग गठित करके जांच के आदेश दिए। इस बार फिर उनके आदिवासी होने पर कोई फैसला नहीं लिया गया।

 

ट्वीट चार

फिर 2013 विधानसभा चुनाव से एकदम पहले छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने आयोग द्वारा हाईकोर्ट में दी गई रिपोर्ट को वापस ले लिया।

 

ट्वीट पांच

नए आयोग को गठित करने के लिए रमन सिंह सरकार ने 4 साल का समय लगा दिया और अब उच्च न्यायालय ने सोती हुई छत्तीसगढ़ सरकार को याद दिलाया कि गठित समिति को पहले गैजेट में सूचित करना चाहिए था।

 

ट्वीट छह

पहले की तरह यह मामला चुनाव से पहले टल गया। रमन सिंह जी का जोगी जी को बचाने का ये प्रयास निरंतर जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

India Writers Magazine

Entertainment

%d bloggers like this: