Home Breaking News केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद करने पर आपको मिलेंगी ये 5 बड़ी रियायतें

केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद करने पर आपको मिलेंगी ये 5 बड़ी रियायतें

0
0
77

 केरल में बाढ़ से तबाही के बाद जिंदगी पटरी पर लाने के लिए चारों ओर से मदद के हाथ बढ़ रहे हैं. केंद्र व राज्‍य सरकारों के साथ-साथ कॉरपोरेट, आम लोग तक धनबल से मदद कर रहे हैं. राज्‍य में बाढ़ से अब तक 231 लोगों की जान गई है और 14 लाख से अधिक लोग बेघर हुए हैं. इन्‍हें दोबारा बसाने के लिए केरल ने केंद्र से 2,600 करोड़ रुपये के विशेष पैकेज की मांग की है. आइए जानते हैं केरल की मदद करने पर क्‍या-क्‍या रियायतें मिल रही हैं:

केरल में दान 100% कर मुक्‍त होगा
केरल के लिए एनजीओ को योगदान पर 50 प्रतिशत कर छूट मिलेगी. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजीजू ने बताया कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) लोगों, संगठनों तथा ट्रस्ट से स्वैच्छिक आधार पर योगदान स्वीकार करता है. इस कोष में योगदान को आयकर कानून की धारा 80 (जी) के तहत कर छूट प्राप्त है. उन्होंने कहा कि गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के लिए यह इस बात पर निर्भर है कि क्या उन्हें आयकर कानून से छूट है. अगर ऐसा है तो 80 जी के तहत 50 प्रतिशत छूट मिलेगी. एक अन्‍य अायकर अधिकारी ने कहा कि विदेशों से केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत को लेकर कोई पाबंदी नहीं है लेकिन इसके लिए उन्हें निर्धारित नियमों एवं प्रक्रियाओं का अनुपालन करना होगा. हालांकि नीति के तहत भारत आपदा पीड़ितों के लिए विदेशी सरकारों से कोई दान स्वीकार नहीं करता. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत रूप से तथा निजी इकाइयां केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए योगदान कर सकती हैं लेकिन यह कुछ नियमों पर निर्भर है.

एयर टिकट फ्री और कैंसिलेशन फीस भी नहीं
विस्तारा और कतर एयरवेज़ ने संकट की इस घड़ी में केरल के लिए हाथ बढ़ाया है. एयर विस्तारा उन लोगों को फ्री में फ्लाइट मुहैया कराएगी, जो केरल में सहायता के लिए जा रहे हैं. यह सुविधा दिल्ली और चेन्नै एयरपोर्ट से उपलब्ध रहेगी. डॉक्टर, नर्स, वॉलंटिअर्स, आपदा राहत एक्सपर्ट्स को इस सुविधा का लाभ मिलेगा.’ विमान कंपनी ने इसके लिए ई-मेल आईडी उपलब्ध कराई. उधर, कतर एयरवेज़ ने भी केरल में सहायता की घोषणा की है. एयरलाइन के अधिकारियों ने कहा कि बाढ़ की मार से त्रस्त कोचिन और कारीपुर में दोहा से तिरुवनंतपुरम की एयरलाइन पैसेंजर सर्विस के जरिए सहायता भेजने का ऐलान किया है.

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने कहा है कि केरल जाने वाली सभी उड़ानों के टिकट पर 31 अगस्त तक टिकट कैंसिलेशन शुल्क से छूट रहेगी. ऐसा लोगों की सहूलियत के लिए किया गया है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि यह छूट घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों उड़ानों पर रहेगी. कंपनी ने बताया कि 17 अगस्त या उससे पहले जारी टिकटों पर ही यह छूट लागू होगी. पहले एयर इंडिया ने इस छूट को 26 अगस्त तक रखने के लिए कहा था लेकिन अब यह बढ़ाकर 31 अगस्त तक कर दी गई है. यह छूट कोच्चि, कोझीकोड और तिरुवनंतपुरम के लिए या वहां से उड़ान भरने वाली दोनों तरह की उड़ानों पर लागू होगी.

बैंक चार्ज में भी दी जा रही छूट
एसबीआई और केनरा बैंक भी केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए हैं. एसबीआई ने केरल पीड़ितों के लिए दो करोड़ दान देने का ऐलान किया है. बैंक ने बाढ़ पीड़ितों के लिए डुप्लीकेट पासबुक, एटीएम कार्ड, चेक बुक जारी करने के चार्ज खत्म कर दिए हैं. इसके अलावा बैंक ने ईएमआई पर लेट पेमेंट को भी हटाने का ऐलान किया है. एसबीआई ने यह भी कहा कि सीएमडीआरएफ को भेजी गई राशि पर कोई चार्ज नहीं लिया लगेगा. जिन लोगों के बैंक और निजी दस्तावेज गुम हो चुके हैं. उनके लिए भी एसबीआई ने विशेष सुविधा का ऐलान किया है. ऐसे लोग जिनके पास निजी दस्तावेज नहीं हैं, वह फोटो और हस्ताक्षर या फिर थंब इम्प्रेशन के जरिए खाता खुलवा सकते हैं.

उधर, कैनरा बैंक ने कहा है कि बाढ़ से प्रभावित ग्राहकों से डेबिट कार्ड और चेक बुक के लिए कोई फीस नहीं ली जाएगी. हम बाढ़ से प्रभावित ग्राहकों से बैंकिंग गतिविधियां शुरू करने के लिए कोई शुल्क नहीं लेंगे. यह तत्काल प्रभाव से लागू होगा. यह सुविधा 31 अक्टूबर तक उपलब्ध रहेगी.

एकजुट हुईं केंद्र व राज्‍य सरकारों
पीएम नरेंद्र मोदी ने केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करके तत्‍काल आर्थिक सहायता के रूप में केरल को 500 करोड़ रुपये का पैकेज देने का ऐलान किया. इससे पहले भी पीएम की ओर से 100 करोड़ रुपये आर्थिक सहायता की घोषणा की गई थी. इस बीच, यूपी की योगी सरकार ने पीड़ितों के लिए 15 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है. तेलंगाना ने भी 25 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है. आंध्र प्रदेश ने भी 10 करोड़ रुपये की मदद देने का ऐलान किया है. ओडिशा ने केरल के लिए 5 करोड़ रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. बिहार ने भी केरल में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए मुख्‍यमंत्री राहत कोष से 10 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है.

कॉरपोरेट जगत ने भी बढ़ाया मदद को हाथ
भारतीय कॉरपोरेट जगत ने भी मदद को हाथ बढ़ाया है. इसके लिए औद्योगिक प्रतिष्ठान चंदे आदि की घोषणा कर रहे हैं. प्रमुख उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने अपने पूर्व अध्यक्ष कृष गोपालकृष्णन की अध्यक्षता में एक कार्यबल बनाया है. यह केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत कदमों पर राज्य सरकार और जिला प्रशासनों के साथ तालमेल बना कर काम करेगा. जेएसडब्ल्यू समूह ने केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए एक पहल शुरू की है. कंपनी ने कहा है कि इस पहल के तहत उसके कर्मचारी स्वेच्छा से धन और सामान का योगदान कर सकते हैं. टीवीएस मोटर कंपनी ने केरल के मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए का योगदान दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.