Home Breaking News भारत में बड़ी वारदात की तैयारी में खालिस्तान के आंतकी, UAE में बनाया बेस

भारत में बड़ी वारदात की तैयारी में खालिस्तान के आंतकी, UAE में बनाया बेस

0
0
76

खालिस्तान समर्थक आतंकी भारत में बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में हैं. एनआईए के सूत्रों ने बताया कि खालिस्तान समर्थक एक बार फिर से भारत को परेशान करने की जुगत में जुट गए हैं. खालिस्तान समर्थकों ने वारदात को अंजाम देने के लिए यूएई में अपना नया बेस तैयार किया है. बताया जा रहा है कि आतंकी पंजाब में बड़ा हमला कर सकते हैं. सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि यूएई के एक शूटिंग क्लब में खालिस्तान आतंकियों को पंजाब में हिंसा फैलाने के लिए साजिश रची जा रही है.

यूएई के शूटिंग क्लब और पंजाब में पकड़े गए आंतकियों के बीच लिंक का पता चला है. पंजाब के क्रिमिनल को यूएई के इस क्लब के जरिये फंडिंग भी की गई, जिससे पंजाब में दूसरे धर्मों के लोगों को नुकसान पहुंचाने की तैयारी है.

पाकिस्तान कर रहा खालिस्तान की मदद
पिछले दिनों जांच एजेंसी एनआईए की रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि पाकिस्तान खालिस्तान समर्थकों को मदद कर रहा है. सूत्रों के हवाले से बताया गया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आई्एसआई खालिस्तान समर्थकों को कई तरह से मदद कर रहा है. साथ ही यह भी आश्वासन दे रहा है कि वह अगर भारत के खिलाफ किसी वारदात को अंजाम देते हैं तो वे उनकी पूरी मदद करेंगे.

लश्कर ने नेपाल में बनाया बेस
पाकिस्तान भारत को अशांत करने के लिए आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा की भी मदद कर रहा है. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक लश्कर ए तैयबा ने नेपाल में अपना बेस बना लिया है. सूत्रों का कहना है कि इस काम में पाकिस्तान हाईकमीशन लश्कर की मदद कर रहा है. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकियों की बहाली में भी मदद कर रहा है. सूत्रों का कहना है कि आईएसआई ने एनजीओ बनाया है, जिसकी मदद से लश्कर सहित अन्य आतंकी संगठनों के लिए आतंकवादी बनाने के लिए युवाओं का सलेक्शन किया जाता है.

खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि नेपाल के मोरंग जिले के विराट नगर में ISI की मदद से लश्कर ने बड़ा बेस कैंप तैयार कर लिया है. बताया जा रहा है कि यहां लश्कर नेपाली लोगों को भी बरगला कर आतंकी बना रहा है. माना जा रहा है कि भारत में वारदात को अंजाम देने के लिए आतंकी बनाए गए नेपाली लोगों की मदद ली जा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.