Home Breaking News विवेक तिवारी हत्‍याकांड : 2 पुलिसवालों के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज, SIT करेगी जांच, एडीजी बोले- घटना दुखद

विवेक तिवारी हत्‍याकांड : 2 पुलिसवालों के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज, SIT करेगी जांच, एडीजी बोले- घटना दुखद

0
0
120

 लखनऊ के गोमती नगर विस्‍तार के मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास पुलिसकर्मी द्वारा मारे गए युवक विवेक तिवारी के परिवार ने पुलिस पर एनकाउंटर का आरोप लगाया है. पीड़ित परिवार ने कहा कि पुलिस ने विवेक का एनकाउंटर ‍किया है. उनका कहना है कि यह हादसा नहीं बल्कि हत्‍या है. पुलिस ने बेगुनाह की हत्‍या की है. वहीं यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा है कि यह घटना दुखद है. दो पुलिसवालों के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज किया गया है. मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

उनका कहना है कि यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने मामले की जांच के लिए आईजी लखनऊ के नेतृत्‍व में एसआईटी का गठन कर दिया है. एसपी क्राइम और एसपी ग्रामीण लखनऊ भी इस टीम का हिस्‍सा हैं. यह जल्‍द से जल्‍द अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेंगे. पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में विवेक के ठोढ़ी की बाईं ओर के हिस्‍से में गोली के कारण आई चोटें मिली हैं. विसरा सुरक्षित रखा गया है. घटना के क्रम को समझने के लिए जांच की जाएगी.

सुनियोजित नहीं थी घटना : एसएसपी
वहीं लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि 2 पुलिसवालों के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज किया गया है. उन्‍होंने कहा है कि विवेक तिवारी के चरित्र पर कोई शक नहीं है. पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है कि विवेक की मौत सिर पर गोली लगने से हुई है. यह घटना सुनियोजित नहीं थी. मामले की जांच के लिए एसआईटी बनाई गई है. इसकी मजिस्‍ट्रेटी जांच होगी.

UP Police brutally shoot dead a man in Lucknow
लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी.

पत्‍नी ने सीएम योगी से मांगा जवाब
विवेक तिवारी की पत्‍नी कल्‍पना तिवारी ने भी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्‍होंने कहा ‘मेरे पति को क्‍यों मारा गया, पुलिस ऐसे कैसे किसी को मार सकती है.’ उन्‍होंने कहा कि जब तक मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ यहां नहीं आते तब तक हम विरोध में बैठे रहेंगे. उन्‍होंने कहा ‘मुझे सीएम योगी से जवाब चाहिए.’


बचाव में चलाई गोली : आरोपी कांस्‍टेबल
वहीं आरोपी पुलिस कांस्‍टेबल प्रशांत चौधरी ने कहा कि उसने अपने बचाव में गोली चलाई थी. उसने कहा ‘मैंने देर रात दो बजे एक संदिग्‍ध कार को देखा, उसकी लाइटें बंद थीं. जब मैं कार के पास जांच के लिए गया तो चालक (विवेक तिवारी) ने भागने की कोशिश की और मुझ पर कार चढ़ाने की कोशिश की. इसके बाद मैंने अपने बचाव में गोली चलाई. इसके बाद वह घटनास्‍थल से फरार हो गया.’

‘क्‍या विवेक आतंकी था, जो मार दी गोली’
विवेक तिवारी के साले विष्‍णु शुक्‍ला ने उनकी मौत पर सवाल उठाते हुए पुलिस पर आरोप लगाए हैं. उन्‍होंने कहा कि क्‍या विवेक तिवारी कोई आतंकी था, जो कि उन्‍हें गोली मार दी गई. हमने योगी आदित्‍यनाथ को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुना है. हम चाहते हैं कि वह इस मामले का संज्ञान लें. हम इस पूरे मामले की निष्‍पक्ष रूप से सीबीआई जांच चाहते हैं.

 

डिप्‍टी सीएम ने दिया कड़ी कार्रवाई का आश्‍वासन
वहीं यूपी के उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मामले में कहा है कि मामले की जांच चल रही है. अगर पुलिस के द्वारा कोई बेगुनाह व्‍यक्ति मारा गया है तो इसकी जांच की जाएगी. इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा, उसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि लखनऊ के गोमतीनगर विस्तार के मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास कार सवार विवेक तिवारी को पुलिस कांस्‍टेबल प्रशांत चौधरी ने गोली मार दी थी. उसका कहना है कि उसे संदिग्ध रूप से कार खड़ी दिखाई दी थी. जिसकी जब वह जांच करने गया तो विवेक ने उस पर कार चढ़ाकर उसे मारने की कोशिश की. इसके बाद उसने बचाव में विवेक पर गोली चलाई. इस दौरान विवेक के साथ उसकी महिला सहयोगी भी थी. उसे पुलिस ने नजरबंद कर रखा है. घटना के बाद पुलिस की गोली से घायल हुए युवक को आनन-फानन में लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया. लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.