Home Breaking News PM मोदी बोले- कांग्रेस के नामदारों के फोन आने पर दे दिया जाता था अरबों का लोन

PM मोदी बोले- कांग्रेस के नामदारों के फोन आने पर दे दिया जाता था अरबों का लोन

0
0
107

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ‘इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक’ (आईपीपीबी) को लॉन्च कर दिया है. आईपीपीबी की देशभर में 650 शाखाएं और 3250 एक्सेस प्वाइंट हैं, जहां समानांतर रूप से शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं.

इस कार्यक्रम के साथ 20 लाख लोग जुड़े हुए हैं. इनके साथ कई मंत्री, विधायक और सांसद समेत अन्य नेता मौजूद हैं. IPPB को लॉन्च करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक सितम्बर 2018 को देश के इतिहास में एक अभूतपूर्व सुविधा की शुरुआत होने के रूप में याद किया जाएगा. इसके साथ ही देशभर में सभी 1.55 लाख डाकघर 31 दिसंबर 2018 तक आईपीपीबी प्रणाली से जुड़ जाएंगे.

LIVE UPDATE (खबर को लगातार अपड़ेट किया जा रहा है कृपया पेज को रिफ्रेश करते रहिए)

>पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में फोन बैंकिंग का प्रसार उस समय उतना नहीं हुआ था, लेकिन नामदारों ने फोन पर बैंकिंग और फोन पर कर्ज दिलवाने शुरू कर दिए थे. जिस भी बड़े उद्योगपति को लोन चाहिए होता था, वो नामदारों से बैंक को फोन करवा देता था.

>कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद से लेकर साल 2008 तक देश के बैंकों ने 18 लाख करोड़ रुपये की राशि ही लोन के तौर पर दी थी. लेकिन साल 2008 के बाद के छह वर्षों में ये राशि बढ़कर 52 लाख करोड़ रुपये हो गई यानी जितना लोन बैंकों ने आजादी के बाद दिया था, उसका दोगुना लोन पिछली सरकार के छह साल में बांट दिया.

>पीएम ने कहा कि हमारी सरकार देश के बैंकों को गरीब के दरवाजे पर लेकर आ गई है. वरना चार-पांच साल पहले तक तो ऐसी स्थिति बना दी गई थी कि बैंकों का अधिकांश पैसा सिर्फ उन्हीं अमीर लोगों के लिए रिजर्व रख दिया गया था, जो एक परिवार विशेष के करीबी थे.

>पीएम मोदी ने कहा कि IPPB किसानों के लिए भी एक बड़ी सुविधा साबित होगा. प्रधानमंत्री फसल बीमा जैसी योजनाओं को इससे विशेष बल मिलेगा. पोस्ट पेमेंट बैंक के बाद अब योजनाओं की क्लेम राशि भी घर बैठे ही मिला करेगी. सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटियों के नाम पर पैसा बचाने की मुहिम को भी गति देंगे.

>पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय डाक विभाग के पास डेढ़ लाख डाकघर हैं. तीन लाख से अधिक पोस्टमैन देश के जन-जन से जुड़े हैं. इतने व्यापक नेटवर्क को टेक्नॉलॉजी से जोड़कर 21वीं सदी में सेवा का सबसे शक्तिशाली सिस्टम बनाने का बीड़ा हमने उठाया है. अब डाकिए के हाथ में स्मार्ट फोन है और बैग में एक डिजिटल डिवाइस भी है.

>पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार पुरानी व्यवस्थाओं को Reform और perform करके, उन्हें Transform करने का काम कर रही है. लेटर की जगह अब भले ई-मेल ने ले ली हो, लेकिन लक्ष्य एक ही है. जिस टेक्नोलॉजी ने पोस्ट ऑफिस को चुनौती दी, उसी टेक्नोलॉजी को आधार बनाकर हम इस चुनौती को अवसर में बदलने की तरफ आगे बढ़ रहे हैं.

>पीएम मोदी ने कहा, ‘डाकिया और पोस्ट ऑफिस हमारे जीवन का अहम हिस्सा है. आज से देश में डाकिया डाक लाया के साथ-साथ डाकिया बैंक लाया के रूप में जाना जाएगा. आज भी मुझे सैकड़ों की संख्या में चिट्ठियां मिलती हैं. मन की बात के लिए ही हर महीने हजारों पत्र आते हैं. ये पत्र लोगों के साथ मेरा सीधा संवाद स्थापित करते हैं. जब वो चिट्ठियां पढ़ता हूं, तो लगता है कि लिखने वाला सामने ही है और अपनी बात सीधे मुझसे कह रहा है.

>पीएम मोदी ने कहा कि IPPB के लॉन्च होने के बाद अब डाकिया चलता फिरता बैंक बन गया है. उन्होंने कहा कि सरकार पर लोगों का विश्वास बेशक डगमगाया हो, लेकिन डाकिया के प्रति कभी नहीं डगमगाया. पहले डाकिया को चोर और डाकू भी परेशान नहीं करते थे.

>उन्होंने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक देश के अर्थतंत्र, सामाजिक व्यवस्था में एक बड़ा परिवर्तन करने जा रहा है. हमारी सरकार ने पहले जनधन के माध्यम से करोड़ों गरीब परिवारों को पहली बार बैंक पहुंचाया और आज से बैंक को ही गांव और गरीब के दरवाज़े पर पहुंचाने का काम शुरू हो गया है.

> पीएम मोदी ने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से देश के हर गरीब तक, देश के कोने-कोने तक, दूर-दराज़ के पहाड़ों पर बसे लोगों तक, घने जंगलों के बीच रह रहे आदिवासियों तक, एक-एक भारतीय के दरवाज़े पर बैंक और बैंकिंग सुविधा का मार्ग खुल रहा है.

> कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि  केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हां आईआईटियन हैं, जिसके चलते वो स्वभाव से ही हर कार्यक्रम को टेक्नोलॉजी से जोड़ देते हैं.

आईपीपीबी को आम आदमी के लिए एक सुगम, किफायती और भरोसेमंद बैंक के रूप में स्थापित करने की कोशिश की जा रही है, ताकि केन्द्र सरकार के वित्तीय समावेश उद्देश्यों को तेजी से पूरा करने में मदद मिल सके. देश के हर कोने में फैले डाक विभाग के तीन लाख से अधिक डाकियों और ग्रामीण डाक सेवकों के विशाल नेटवर्क से इसे काफी लाभ मिलेगा. इसलिए आईपीपीबी भारत में लोगों तक बैंकों की पहुंच बढ़ाने में उल्लेखनीय भूमिका निभाएगा.

आईपीपीबी बचत और चालू खातों, धन हस्तांतरण, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, बिल और उपयोगिता भुगतान और उद्यम एवं वाणिज्यिक भुगतान जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराएगा, इन सुविधाओं एवं इससे जुड़ी अन्य संबंधित सेवाओं को बैंक के अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हुए बहु-विकल्प माध्यमों (काउंटर सेवाएं, माइक्रो-एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप, एसएमएस और आईवीआर) के जरिए उपलब्ध कराया जाएगा.

बता दें कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भारतीय डाक विभाग की तरफ से शुरू किया गया है. इसमें आप सेविंग्स अकाउंट के साथ करंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं. इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक न सिर्फ आपको बचत खाते पर ज्यादा ब्याज देगा, बल्क‍ि यह आपको डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा भी देगा. इसका मतलब यह है कि अब आप अपने घर पर बैठ कर ही बैंक खाता खुलवा सकेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.