Home Breaking News रिलायंस इंडस्ट्रीज को खुदरा कारोबार में बंपर कमाई, 9,459 करोड़ रुपये का हुआ मुनाफा

रिलायंस इंडस्ट्रीज को खुदरा कारोबार में बंपर कमाई, 9,459 करोड़ रुपये का हुआ मुनाफा

0
0
81

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को उसके सभी कारोबारी क्षेत्रों में कमाई बढ़ने से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में रिकॉर्ड मुनाफा हासिल हुआ है. कंपनी को उसके खुदरा कारोबार में बंपर कमाई हुई है, दूरसंचार इकाई के मुनाफे में सुधार आया है जबकि पेट्रोरसायन कारोबार करीब दोगुना हो गया. इससे तेल रिफाइनिंग व्यवसाय में हासिल कम मार्जिन की भरपाई हो गई.

आरआईएल के अनुसार चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से जून की तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 17.9 प्रतिशत बढ़कर 9,459 करोड़ रुपये हो गया. एक साल पहले इसी तिमाही में यह 8,021 करोड़ रुपये पर था. एक साल पहले जहां कंपनी का मुनाफा 13.5 रुपये प्रति शेयर था वहीं इस साल की तिमाही में यह बढ़कर 16 रुपये प्रति शेयर हो गया. इस दौरान कंपनी का कुल राजस्व 56.5 प्रतिशत बढ़कर 1,41,699 करोड़ रुपये हो गया.

कंपनी ने कहा है कि अप्रैल से जून 2017 के उसके मुनाफे को उसमें शामिल 1,087 करोड़ रुपये की राशि को हटाकर तुलना के लिये लिया गया है. यह राशि तब कंपनी की गल्फ अफ्रीका पेट्रोलियम कारपोरेशन में हिस्सेदारी की बिक्री से प्राप्त हुई थी.

रिलायंस के खुदरा कारोबार में आलोच्य अवधि के दौरान कर पूर्व 1,069 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. इसमें उसे 266 प्रतिशत का उछाल मिला है. कंपनी के देशभर में 5,200 शहरों में 8,533 स्टोर हैं. खुदरा कारोबार में इस दौरान 25,890 करोड़ रुपये का कारोबार किया गया.

आरआईएल की दूरसंचार इकाई रिलायंस जियो को इस दौरान 612 करोड़ रुपये का एकीकृत मुनाफा हुआ है. यह पिछली तिमाही के मुकाबले 17 प्रतिशत अधिक रहा. इस दौरान कंपनी के दूरसंचार ग्राहकों की संख्या बढ़कर 21.50 करोड़ तक पहुंच गई. इससे पहले 2017- 18 की पहली तिमाही में कंपनी को कर पूर्व 22 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

पेट्रोरसायन कारोबार में कंपनी को जोरदार मुनाफा हुआ. इस क्षेत्र में उसका कर पूर्व मुनाफा 94.9 प्रतिशत बढ़कर 7,857 करोड़ रुपये रहा. रिलायंस की दुनिया की सबसे बड़ी तेल रिफाइनिंग परिसर की कर पूर्व कमाई 16.8 प्रतिशत घटकर 5,315 करोड़ रुपये रही. रिफाइनरी से प्रत्येक कच्चे तेल को ईंधन में परिवर्तित करने पर 10.5 डालर प्रति बैरल का मार्जिन हासिल किया गया.

रिलायंस ने कहा कि 30 जून 2018 को उसका कुल कर्ज बढ़कर 2,42,116 करोड़ रुपये हो गया जो कि 31 मार्च 2018 को 2,18,763 करोड़ रुपये था. इस दौरान कंपनी के पास उपलब्ध नकदी 79,492 करोड़ रुपये थी.

कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने परिणाम पर अपनी टिप्पणी में कहा, “हम अपने विभिन्न व्यवसायों के परिचालन में बेहतर कार्य के जरिये अपने ग्राहकों को मजबूती के साथ सेवाएं देने पर ध्यान दे रहे. चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के परिणाम में पेट्रोरसायन कारोबार की मजबूती झलकती है जिसे हमने अपने पिछले निवेश चक्र में बढ़ावा दिया था.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.