Home Breaking News प्रदेश के 1लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी गुरुजनों को भारतीय जनता पार्टी के राज्य मंत्री ने छोटे कर्मचारी और मजदूर कहकर अपमानित किया-विकास तिवारी

प्रदेश के 1लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी गुरुजनों को भारतीय जनता पार्टी के राज्य मंत्री ने छोटे कर्मचारी और मजदूर कहकर अपमानित किया-विकास तिवारी

0
0
367

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि रमन सरकार के राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त श्री मोहन एंटी ने कल एक न्यूज़ चैनल में डिबेट के दौरान प्रदेश के 1 लाख 80 शिक्षाकर्मी गुरुजनों को छोटा-मोटा कर्मचारी,मजदूर और श्रमिक कहकर संबोधित किया जिससे वहां उपस्थित शिक्षाकर्मी संघ के नेता और खुद कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कड़ी आपत्ति दर्ज की उन्होंने कहा कि आदि-अनादि काल से गुरुजनों का स्थान भगवान और माता-पिता से बढ़कर होता है सनातन धर्म में गुरुओं की तुलना भगवानों के समकक्ष की गई है बावजूद अहंकारी भाजपा सरकार के राज्य मंत्री द्वारा गुरुजनों पर अशोभनीय टिप्पणी की और अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया।
भारतीय जनता पार्टी की सरकार का रवैया और सोच प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मियों के लिए प्रदर्शित होता है।प्रवक्ता विकास ने कहा कि शिक्षाकर्मी अपने संविलियन की मांग को लेकर लगातार आंदोलनरत है पिछले दिनों हुए उनके आंदोलनों को रमन सरकार ने कुचल दिया और संविलियन की मांग को ठुकरा दिया और उनके राज्य मंत्री के द्वारा गुरुजनों को श्रमिक मजदूर और छोटा-मोटा कर्मचारी कह कर अपमानित करना इससे पूरे प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी अपने आप को अपमानित महसूस कर रहे हैं पूरे प्रदेश में सुदूर बस्तर जहां नक्सली क्षेत्र में भी शिक्षाकर्मी गुरुजन प्रदेश के लगभग 50 लाख से अधिक छात्र छात्राओं को शिक्षा प्रदान कर रहे हैं भविष्य का निर्माण कर रहे हैं बावजूद उनका संविलियन करने उन को सम्मानित करने की जगह भारतीय जनता पार्टी शिक्षा कर्मी गुरुजनों को अपमानित कर रही है भारतीय जनता पार्टी के राज्य मंत्री और खुद रमन सरकार को प्रदेश के 1 लाख 80 हजार गुरु जनो से माफी मांगनी चाहिये, वरना कांग्रेस पार्टी इस विषय को लेकर उग्र आंदोलन गुरु जनो के साथ मिलकर करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.