Home Breaking News स्वच्छता रैंकिंग: जगह दिखाने के लिये वृक्षारोपण की आड़ में कर रहे थे तैयारी… दुम दबा भागे अधिकारी

स्वच्छता रैंकिंग: जगह दिखाने के लिये वृक्षारोपण की आड़ में कर रहे थे तैयारी… दुम दबा भागे अधिकारी

0
0
130

सकरी रायपुर में प्रस्तावित कचरा डंपिग ग्राउण्ड (भूमि भरण स्थल) की साईट को सर्वेक्षण टीम को दिखाने के लिये चूना डालकर कर कचरा निष्पादन प्लांट और डंंिपंग यार्ड की जगह बताने का प्रयत्न कर रहे नगर निगम के अधिकारियों का विरोध करने आज आस-पास के गावों के रहवासी बड़ी संख्या में प्रस्तावित डंपिंग ग्राउण्ड पहुंच गये। 150-200 लोगों में अधिक संख्या महिलाओं और स्कूली बच्चों की थी। विरोध को देखकर अधिकारी दल-बल सहित चले गये। कार्य चालू करने के पूर्व नगर निगम ने क्षेत्रवासियों को गुमराह करने के लिये वृक्षारोपण का बड़ा बोर्ड लगाया जिसमें नेताओं के फोटो भी लगे थे। लोगों ने जब पूछा कि ठण्ड में किन नियमों के तहत वृक्षारोपण कर रहे हैं तो नगर निगम के अधिकारियों ने बोर्ड हटा दिया,और सबसे बड़ी बात यह है कि पूरे भारत मे यह प्रावधान है कि गाँव मे कोई प्लांट लगेगा तो ग्राम सभा से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य है. जो इस प्रोसेसिंग प्लांट के लिए नगर निगम रायपुर द्वारा लिया नही गया है साथ ही यह छेत्र एयरपोर्ट से 10 किलोमीटर की दूरी में है जहाँ रोज हवाई जहाज का आना जाना होता है. सकरी में शहर का 500 टन कचरा रोज प्लांट में आएगा तो प्लांट के ऊपर चील कौए अधिक मात्रा में नज़र आएंगे. जिससे हवाई जहाज से यात्रा करने वाले यात्रियों की जान खतरे में बना रहेगा और पहले भी निगम द्वारा इस जगह में कचरा डाला गया था. तब भी हवाई जहाज से पकच्ची टकराणे की घटना कई बार हो चुकी है. क्षेत्र के सरपंचों ने आरोप लगाया है कि कचरा प्रोसैसिंग डंपिंग यार्ड और प्लांट के लिये स्वच्छता सर्वेक्षण में 25 प्रतिशत अंक रखे गये है और नगर निगम को पूर्ण आशंका है कि ये 25 प्रतिशत अंक केन्द्रीय सर्वेक्षण समिति, रायपुर को नहीं देगी क्योंकि सकरी के संबंध में मानव अधिकार आयोग ने भी नगर निगम को नोटिस जारी कर रखा है.पंचों ने आरोप लगाया कि नगर निगम के साॅलिड़ वेस्ट मैनेजमेंट के अधिकारी और जोन कमिश्नर रायपुर की जनता को धोखें में रख रहे है और सर्वेक्षण टीम को गुमराह करके अधिक नंबर पाकर रायपुर की जनता को खुश करने का प्रयत्न कर रहे है। नगर निगम जिस इलाके डंपिंग यार्ड और प्लांट लगा रहा है वहां पर कुछ मीटर दूरी पर ही पहले से ही कई कालोनियाॅं और गांव बसे है। रहवासियों ने नगर निगम के आयुक्त आकर देख लें कि पहले लगाये गये सैकडों पौधों में से एक भी पेड़ ही जिंदा नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.