Home States Andhra Pradesh टीडीपी के संसदीय बोर्ड की मीटिंग, बीजेपी से अलग होने पर हो सकता है फैसला

टीडीपी के संसदीय बोर्ड की मीटिंग, बीजेपी से अलग होने पर हो सकता है फैसला

0
0
175

अमरावती |आंध्र प्रदेश में सियासी उठापटक के बीच राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में बने रहने पर मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू अपने सांसदों के साथ बैठक कर रहे हैं टीडीपी की ये बैठक मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के आवास पर हो रही है | बैठक के लिए पहुंचे सांसद बी. रविंदर रेड्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री जो भी कहेंगे, हम उसके लिए तैयार हैं | दूसरी ओर टीडीपी के प्रभावशाली सांसद टीजी वेंकटेश ने कहा कि अगर वे (बीजेपी) हमारी पैकेज की मांग को पूरा करते हैं, तो दोस्त के रूप में हमारा साथ बरकरार रहेगा. नहीं तो विकल्प (गठबंधन से अलग होने का) तो हमेशा खुले होते हैं, उनके लिए भी और हमारे लिए भी |
दरअसल, 1 फरवरी को केंद्रीय बजट पेश होने के बाद टीडीपी ने मुखर होकर बीजेपी और केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. मोदी कैबिनेट में मंत्री और टीडीपी नेता वाई. एस. चौधरी ने बजट से नाखुशी जाहिर कर बहस को नया मोड़ दे दिया है | वहीं, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने भी बजट में आवंटन को सही नहीं बताया है. बजट पेश होने के बाद ही नायडू ने अपने सांसदों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बात की |
सूत्रों के मुताबिक बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने चंद्रबाबू नायडू से बात की है. बीजेपी नेता ने नायडू को आश्वासन दिया है कि इस संबंध में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह उनसे जल्द ही बात करेंगे. बीजेपी की तरफ से नायडू को संयम बरतने के लिए कहा गया है, साथ ही टीडीपी नेताओं से सार्वजनिक तौर पर गठबंधन को लेकर बयानबाजी से बचने की भी अपील की गई है | खबर के अनुसार, चंद्रबाबू नायडू ने अपने सभी सांसदों और नेताओं को अभी किसी भी तरह की बयानबाजी करने से मना किया है. उनका कहना है कि वह गठबंधन धर्म निभा रहे हैं. लेकिन अगर वो (BJP) हमें नहीं चाहते हैं, तो मैं नमस्ते कह कर चल दूंगा |
दोनों पार्टियों के बीच विवाद ऐसे मोड़ पर पहुंच गया है कि नायडू को आज भविष्ट पर चर्चा के लिए मीटिंग बुलानी पड़ी है. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि टीडीपी का एनडीए में सफर यहीं थम सकता है और वह जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकती है. हालांकि, बीजेपी ने कहा है कि वह आंध्र प्रदेश के हितों को लेकर पूरी तरह से कमिटेड हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.