Home Breaking News CG : अब पैदल चलने वालों के लिए रुकेगा ट्रैफिक

CG : अब पैदल चलने वालों के लिए रुकेगा ट्रैफिक

0
0
66

रायपुर। पैदल चलने वालों को अभी चौराहा पार करने में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कब कौन सी गाड़ी, किस दिशा से आ जाए,पता ही नहीं होता। कई बार हादसे भी हो जाते हैं। अब बहुत जल्द यह समस्या खत्म होने जा रही है। इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस) के तहत न सिर्फ चौराहों-तिराहों के सिग्नल को हाइटेक किया जा रहा है, बल्कि पैदल चलने वालों के लिए भी सिग्नल लगाए जा रहे हैं।

इनके जरिए बड़ी आसानी से तय समय में पैदल चलने वाले चौराहे पार कर जाएंगे। इन्हें बाकायदा पता होगा कि कब इन्हें आगे बढ़ना है, कब रुकना है। चौराहे पार करने के लिए बड़े सिग्नल पर कम से कम 40-60 सेकेंड का समय मिलेगा, जो पर्याप्त है। गौरतलब है कि इससे पूर्व एक सिग्नल पर यह व्यवस्था की गई थी, लेकिन बाद में सिग्नल बंद हो गया। व्यवस्था ज्यादा दिनों चली नहीं। पेडिस्ट्रियन सिग्नल मेट्रोज सिटी में लगे होते हैं।
ये सिग्नल चौक पर चारों तरफ होंगे, जैसे कलेक्ट्रोरेट चौक और देवेंद्र नगर चौक पर लगे हुए हैं। फिलहाल इनमें अभी इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन नहीं हुआ है, जल्द ये फंक्शनल होंगे। गौरतलब है कि यह प्रोजेक्ट में 157 करोड़ का है। इसमें शहर के 46 चौराहों को इंटीग्रेटेड किया जा रहा है। सभी में ऑटोमेटिक फंक्शन है। ‘नईदुनिया’ ने पहले भी बताया था कि सिग्नल में ऐसा सिस्टम है कि चौक पर मौजूद ट्रैफिक के आधार पर चलेगा। ट्रैफिक निकला तो सिग्नल रेड हो जाएगा, यानी बेवजह वाहन चालकों को रुकना नहीं होगा।
नईदुनिया’ को रायपुर स्मार्ट सिटी से मिली जानकारी के मुताबिक पहले सिर्फ रायपुर शहर की सीमा में ही यह प्रोजेक्ट था, लेकिन इसे माना एयरपोर्ट तक बढ़ाया जा रहा है। वीआइपी रोड, फुंडहर चौराहा, माना स्थित होमगार्ड ऑफिस और आगे माना एयरपोर्ट टर्निंग पर सिग्नल लग रहे हैं।
अभी यह सामने आ रहा है कि जेब्रा क्रासिंग का पेंट मिट जाता है, जिसके चलते वाहन चालकों को यह नहीं दिखता कि रुकना कहां है और पैदल चलने वालों को चलना कहां से है, इसका भी अंदाजा नहीं होता। यही वजह है कि निगम ने निर्णय लिया है कि इसे हर छह महीने में पेंट करवाया जाएगा।

पैदल चलने वालों को इन सिग्नल पर होती है सबसे ज्यादा समस्या
आइटीएमएस के तहत हुए सर्वे की रिपोर्ट बताती है कि शास्त्री चौक, जयस्तंभ चौक, भगत सिंह चौक, फाफाहीड चौक, आंबेडकर चौक में सर्वाधिक लोग पैदल चौक को पार करते हैं। यहीं पर इन्हें अधिक मुश्किल होती है।
बिजली की खपत कम हो यानी ईकोफ्रेंडली सोलर सिस्टम से आइटीएमएस प्रोजेक्ट के कुछ पोल में लाइट जलेंगी। स्पीड को नियंत्रित करने वाले पोल भी सोलर सिस्टम पर आधारित होंगे। भविष्य में सभी पोल को सोलर बेस्ड किए जाने की प्लानिंग है।

पैदल वालों को भी तो सड़क पर चलने का अधिकार है। वे सड़क को आसानी से पार कर जाएं इसके लिए सिग्नल लगाए जा रहे हैं। उम्मीद है वाहन चालक इन सिग्नल्स का पालन करेंगे और जेब्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.