Home Breaking News US को ओसामा की जानकारी देने वाला पाकिस्तान की जेल में सह रहा ISI का टॉर्चर

US को ओसामा की जानकारी देने वाला पाकिस्तान की जेल में सह रहा ISI का टॉर्चर

0
0
90

अमेरिका के लिए वर्ष 2011 तक आतंक का पर्याय बने ओसामा बिन लादेन को मरे हुए भले ही आज सात वर्ष बीत चुके हैं, लेकिन अलकायदा का खौफ आज भी कम नहीं हुआ है। मौजूदा समय में लादेन का बेटा इस संगठन का अहम सदस्‍य है। इसका नाम है हमजा बिन लादेन, जिसे अमेरिका ने वैश्विक आतंकी घोषित कर रखा है। 2 मई 2011 को अमेरिकी मरीन कमांडो ने ओसामा बिन लादेन को पाकिस्‍तान के एबटाबाद स्थित एक घर में घुसकर ढेर किया था। लेकिन क्‍या आपको पता है कि जिस ओसामा की तलाश वर्षों से अमेरिका अफगानिस्‍तान में कर रहा था, उसके एबटाबाद में होने की खबर उसे किसने दी थी। क्‍या आप यह जानते हैं कि वह शख्‍स आखिर आज कहां है और किस हाल में है। यदि नहीं पता है तो चलिए हम आपको इसकी जानकारी देते हैं।

देशद्रोह के आरोप में 33 वर्षों की दी गई सजा

ओसामा बिन लादेन को ढेर करने के पीछे जिस खास आदमी का नाम जुड़ा है वह पाकिस्‍तान का ही रहने वाला है और पेशे से डॉक्‍टर है। इसी आदमी ने एबटाबाद में एक फर्जी टीकाकरण अभियान शुरू किया था और ओसामा के डीएनए के लिए उसका खून का सैंपल पाने में कामयाब रहा था। इस श्‍ख्‍स का नाम डॉक्‍टर शकील अफरीदी है। ओसामा की मौत के बाद से ही पाकिस्‍तान सरकार ने इसे गिरफ्तार कर जेल में डाल रखा है। ओसामा के खात्‍मे के बाद अफरीदी को तोरखम बोर्डर पर देश छोड़कर भागने की कोशिश करते पकड़ा गया था। 23 मई 2012 को उसे देशद्रोह के आरोप में 33 वर्ष की सजा सुनाई गई थी। इस आदेश के खिलाफ अफरीदी ने ऊपरी अदालत का दरवाजा खटखटाया जहां 29 अगस्‍त 2013 को इस मामले की दोबारा जांच करवाने का फरमान सुनाया गया। इसके बाद इसी वर्ष सरकार की तरफ से अफरीदी पर अपने मरीज की हत्‍या का एक मुकदमा दायर कर दिया गया।

सिगरेट से जलाया गया

अफरीदी का मामला इस बात का जीता जागता उदाहरण है कि पाकिस्‍तान किस तरह से आतंकियों की मदद करता है और उन्‍हें खत्‍म करने में साथ देने वालों को जेल में डाल देता है। आलम यह है कि अफरीदी को आज की तारीख में अपने वकील से भी मिलने की इजाजत नहीं है। इतना ही नहीं अमेरिका कई बार इस बात को कह चुका है कि अफरीदी को रिहा किया जाए लेकिन पाकिस्‍तान हर बार इसको अपने आंतरिक मामले में हस्‍तक्षेप कहकर इस अपील को ठुकराता रहा है। फोक्‍स न्‍यूज और बीबीसी की खबर के मुताबिक अफरीदी ने एक इंटरव्‍यू के दौरान आईएसआई द्वारा उसे प्रताड़ना दिए जाने की बात कही थी। इसके मुताबिक उसको सिगरेट से जलाया गया और जानवरों की तरह उसे मारा गया था। जेल से अफरीदी ने फोक्‍स न्‍यूज को यह इंटरव्‍यू फोन पर दिया था। इस इंटरव्‍यू के बाद अफरीदी की सेल के बाहर तैनात दो सुरक्षाकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। इन पर अफरीदी को फोन मुहैया करवाने का आरोप था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.