Home Breaking News IPL खत्म होते ही बदल गए सुर, ‘धोनी-धोनी’ की जगह दर्शकों ने….

IPL खत्म होते ही बदल गए सुर, ‘धोनी-धोनी’ की जगह दर्शकों ने….

0
0
159

महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन वन-डे मैचों की सीरीज के दूसरे मैच में जहां 10000 रन के आंकड़े को पार किया. वहीं, दूसरी तरफ उन्हें भारत की 86 रन की हार के दौरान धीमी बल्लेबाजी के लिए भारतीय समर्थकों की हूटिंग का सामना करना पड़ा. इंग्लैंड के 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत 50 ओवर में 236 रन ही बना सका और इस दौरान 58 गेंद में 37 रन की पारी खेलने के लिए धोनी की आलोचना हुई. इंग्लैंड के जो रूट को यह ‘हैरानी भरा’ लगा लेकिन भारत के युजवेंद्र चहल ने कहा कि उन्हें हूटिंग की घटना की जानकारी नहीं है. वहीं, कप्तान विराट कोहली ने धोनी की धीमी पारी का बचाव किया है.

पारी के 46वें ओवर की शुरुआत से पहले भारत की हार लगभग तय हो गई थी क्योंकि टीम को 30 गेंद में 110 रन की जरूरत थी. डेविड विली के ओवर में हालांकि, जब धोनी पहली चार गेंद पर रन बनाने में नाकाम रहे तो दर्शकों के धैर्य का बांध टूट गया. इसके बाद प्रत्येक खाली गेंद पर हूटिंग हुई जो धोनी के प्रशंसकों की संख्या को देखते आम बात नहीं है.

58 गेंदों में 37 रन बनाकर आउट हुए धोनी
इस ओवर के अंत में शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल एनर्जी ड्रिंक और दूसरा बल्ला लेकर आए जिस पर कमेंटेटरों ने कहा कि यह धोनी को रन गति बढ़ाने का संदेश है. अगले ओवर की पहली गेंद पर धोनी कैच देकर पवेलियन लौट गए.

चहल ने भी किया धोनी का बचाव 
युजवेंद्र चहल ने इसपर हालांकि, कहा कि धोनी को कोई संदेश नहीं दिया गया था. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि उसे क्या संदेश दिया गया. हार्दिक के आउट होने के बाद मैं, सिद्धार्थ कौल, उमेश यादव और कुलदीप यादव ही बचे थे. इसलिए ऐसा नहीं था कि दो-तीन विशेषज्ञ बल्लेबाज बचे थे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें बल्लेबाजी का काफी मौका नहीं मिला था इसलिए यह विकेट पर टिकने का मौका था. अगर वह बड़ा शॉट मारने की कोशिश में पहले आउट हो जाते तो शायद हम 50 ओवर भी नहीं खेल पाते.’’

जो रूट इस घटना से हुए हैरान 
इससे इंग्लैंड की टीम को कोई फर्क नहीं पड़ता, लेकिन जो रूट इससे थोड़े हैरान थे. उन्होंने कहा, ‘‘हां (यह हैरानी भरा था). लेकिन हमारा इससे कोई लेना देना नहीं है. हम पेशेवर रवैया अपनाना चाहते थे और कोई मौका नहीं देना चाहते थे. हम खेल के अंत में भारत को आउट करके उन्हें हराने में सफल रहे. इसलिए हमारा ध्यान अपने खेल पर है और मैच के अंत में खुद को मजबूत स्थिति में रखना चाहते हैं.’’

 

टि्वटर पर धोनी की धीमी पारी को लेकर कई रिएक्शन देखने को मिले. सोशल मीडिया पर धोनी की इस पारी की काफी आलोचना की गई.

यूजर ने कहा- काफी निराशाजनक है. धोनी सिर्फ अपने रिकॉर्ड के लिए खेले.

वहीं, सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने धोनी का बचाव भी किया.

https://twitter.com/ThatCricketBuff/status/1018179404076204038

विराट कोहली ने किया धोनी का बचाव
इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने जब धोनी की पारी पर सवाल किया तो कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग तेजी से नतीजे पर पहुंच जाते हैं. जब वह अच्छा करता है तो लोग उन्हें अब तक का सर्वश्रेष्ठ फिनिशर कहते हैं और जब चीजें सही नहीं होती तो लोग उसे निशाना बनाते हैं.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.