Home Breaking News ममता सरकार ने किया पेट्रोल-डीजल के दामों में एक रुपये की कटौती का ऐलान

ममता सरकार ने किया पेट्रोल-डीजल के दामों में एक रुपये की कटौती का ऐलान

0
0
114

अब पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दामों में एक रुपये की कटौती करने का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस आशय की घोषणा करने के दौरान केंद्र सरकार से ईंधन की कीमतों पर सेस कम करने की मांग कर डाली. बनर्जी ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, “फिलहाल हमने पेट्रोल और डीजल पर प्रति लीटर एक-एक रुपये कम करने का फैसला किया है. हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि वह डीजल और पेट्रोल पर सेस कम करने के बारे में विचार करे.”

तृणमूल सुप्रीमो ने आरोप लगाया, “बीजेपी नीत केंद्र सरकार ने उत्पाद शुल्क में नौ गुना वृद्धि कर दी जबकि वैश्चिक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें घट रही हैं. ये दोनों चीजें साथ-साथ नहीं हो सकतीं. इस सेस से राज्य सरकारों को बिल्कुल भी हिस्सा नहीं मिलता.” उन्होंने कहा, “ऐसी स्थिति में, हमारी सरकर ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में एक रुपये प्रति लीटर की कटौती का निर्णय लिया है. हमारी सरकार ने इन वर्षों में कभी भी बिक्री कर या सेस नहीं बढ़ाया.”

ममता ने कहा, “जनवरी 2016 में, पेट्रोल की कीमतें 65.12 रुपये प्रति लीटर थीं और सितंबर 2018 में बढ़कर 81.5 रुपये प्रतिलीटर हो गईं. कुल मिलाकर 16.48 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. इसी तरह, डीजल की कीमतें 48.80 रुपये प्रतिलीटर थी जो अब बढ़कर 73.26 के स्तर पर पहुंच गई हैं. डीजल के दामों में 24.46 रुपये का उछाल आया है.”

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर दी ओणम की बधाई
ममता ने दावा किया, “हमारी सरकार ने इन वर्षों में कभी भी बिक्री कर या सेस नहीं बढ़ाया.”

आंधप्रदेश और राजस्थान भी कर चुके हैं दामों में कटौती
इससे पहले, ईंधन कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के बीच आंध्र प्रदेश ने सोमवार को पेट्रोल तथा डीजल पर कर में दो रुपये घटाने कटौती की घोषणा की थी. नायडू ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था, “केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाकर लोगों पर भारी बोझ डाल रही है. पेट्रोल व डीजल को ऐसे समय महंगा किया जा रहा है जबकि सरकार की विभिन्न अन्य शुल्कों तथा लाभांश से आमदनी बढ़ रही है.”

आंध्रप्रदेश सरकार फिलहाल पेट्रोल व डीजल पर 31 प्रतिशत मूल्य वर्धित कर के अलावा चार प्रतिशत का अतिरिक्त कर लगा रही है. इस अतिरिक्त चार रुपये के कर में दो रुपये की कटौती की गई है. इससे राज्य में मंगलवार को पेट्रोल का दाम घटकर 84.71 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल का 77.98 रुपये प्रति लीटर पर आ गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य ने घाटे वाले बजट के बावजूद कर का बोझ कम करने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि इससे राज्य के खजाने पर 1,120 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. विपक्ष के भारत बंद से एक दिन पहले राजस्थान ने रविवार को पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाने की घोषणा की थी. राजस्थान में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.